HomeG.K / G.SX-ray और Ultrasound में अंतर |Difference between X-ray and Ultrasound in Hindi

X-ray और Ultrasound में अंतर |Difference between X-ray and Ultrasound in Hindi

नमस्कार पाठकों

मित्रों कई बार हमें चिकित्सा के संदर्भ में X-ray और Ultrasound का उपयोग लेना होता है। हम कई कारणों से X-ray और Ultrasound का उपयोग करते हैं। लेकिन बहुत से लोगों को लगता है कि X-ray और Ultrasound एक ही चीज होती है लेकिन यह बहुत ही ज्यादा गलत है क्योंकि मित्रों X-ray और Ultrasound में बहुत ज्यादा फर्क होता है।

यदि हम एक ही लाइन में समझना चाहे तो यह समझ सकते हैं कि शरीर के आंतरिक भागों की तस्वीरें लेने के लिए हम X-ray का इस्तेमाल करते हैं और शरीर के आंतरिक भागों को वीडियो के तौर पर देखने के लिए हम Ultrasound का इस्तेमाल करते हैं। दोनों को इस्तेमाल करने का तरीका भी अलग होता है।

इसीलिए मित्रों आज के लिए हम जानेंगे कि X-ray और Ultrasound में अंतर क्या होता है? Ultrasound क्या होता है? X-ray क्या होता है? X-ray aur Ultrasound me kya difference hota hai? दोनों किस संदर्भ में काम आते हैं? दोनों किस प्रकार इंसानों की भलाई करते हैं? दोनों के उपयोग क्या क्या है और इसी से संबंधित हम इसके बारे में और भी कई चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

तो चलिए शुरू करते हैं-

X-ray क्या होता है?

यह एक प्रकार की radioactive विकिरण होती है जिसके द्वारा हम किसी भी मोटी परत की वस्तु के पार देख सकते हैं। यह विकिरण किसी भी प्रकार की मोटी परत को भेदने में सक्षम है। X-ray लोहे की परतों को भी भेद सकती है। X-ray को सबसे पहले 8 नवंबर 1895 में जर्मन फिजिक्स प्रोफेसर विल्हेल्प रोंटेगन ने खोजा था, रोंटेगन ने इन्हें विद्युत चुंबकीय विकिरण कहा था और इसमें परतों को छेदने की क्षमता इसके तरंगधैर्य पर निर्भर करती है। इसका सर्वाधिक उपयोग चिकित्सा निदान में किया जाता है। रोंटेगन ने X-ray कि खोज की थी इस कारण X-ray को radioactive विकिरण भी कहा जाता है।

X-ray के उपयोग-

• X-ray का उपयोग ज्यादातर चिकित्सा के क्षेत्र में किया जाता है जैसे कि-
• एक्सीडेंट में टूटी हड्डी की तस्वीरें,
• शरीर में किसी बीमारी का पता लगाने के लिए,
• हड्डियों के कैंसर के लिए,
• स्तन कैंसर के लिए,
• फेफड़ों की दिक्कत के कारण,
• किसी प्रकार का संक्रमण का पता लगाने के लिए या अर्थाराईटिस की बीमारी के निदान में,
• गले में समस्या हो जाने पर,
• ह्रृदय का थोडा ज्यादा बड़ा हो जाने पर भी x-ray किया जाता है।

Ultrasound क्या होता है?

Ultrasound को साधारण शब्दों में पराश्रव्य भी कहा जाता है पराश्रव्य ध्वनि तरंगे होते हैं जिनकी आवृत्ति मनुष्य के कानो को सुनाई देने वाली ध्वनि तरंगों से भी कई गुना ज्यादा होती है। मनुष्य को 20 से लेकर 20000 कंपन प्रति सेकंड तक सुनाई दे सकता है। जो ध्वनि तरंगे 20000 hz से अधिक होती है उन Ultrasound को मानव के कान नहीं सुन सकते है। Ultrasound का सबसे पहले क्लीनिक कारणों से उपयोग 1956 में किया गया था। ग्लास्गो के यान डोनाल्ड और टॉम ब्राउन ने 1950 में सबसे पहले Ultrasound का एक प्रोटोटाइप बनाया था।

इसके बाद में समय-समय पर Ultrasound को और ज्यादा विकसित किया जाने लगा और आज के समय Ultrasound चिकित्सालय सेक्टर में बहुत ज्यादा इस्तेमाल होती है। Ultrasound को सोनोग्राफी भी कहा जाता है। इसमें रेडियो चुंबकीय रेडियोएक्टिव विकिरण के द्वारा व्यक्ति के शरीर में हो रही हलचल को देखा जाता है। और व्यक्ति के शरीर में मांसपेशियों हड्डियों और अंदर पल रहे बच्चे को देखा जा सकता है इसीलिए इसका उपयोग सबसे ज्यादा गर्भवती महिलाओं के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Ultrasound के उपयोग-

अल्ट्रासाउंड चिकित्सा के क्षेत्र में बहुतायात में काम आता है जैसे कि-


• गर्भावस्था में बच्चे की सेहत, बच्चे के बारे में जानकारी, और बच्चे के जन्म का अनुमानित समय जानने के लिए,
• लीवर की स्थिति की जांच करने या डाईग्नोस करने के लिए,
• थाइराइद की जांच करने के लिए,
• लसिका ग्रंथि की जांच करने के लिए,
• अंडाशय व स्तन सम्बन्धी बिमारियों के जांच के लिए,
• किसी भी प्रकार के ट्यूमर के जांच के लिए,
• इकोकार्डियोग्राम के संबंध में,
• और विभिन्न प्रकार की बायोप्सी में अल्ट्रासाउंड का उपयोग्ग होता है।

X-ray और Ultrasound में अंतर क्या है?

  • X-ray की खोज 1895 में की गई थी। उनकी खोज विल्हेल्प रोंटेगन के द्वारा की गई थी, एक मशीन के द्वारा अत्यधिक फ्रीक्वेंसी की चुंबकीय विकिरणों का उपयोग करके व्यक्ति के शरीर के अंदर की तस्वीरें ली जा सकती है।
  • इसमें चुंबकीय विकिरण सम्मानित व्यक्ति के शरीर को पार करके उसके अंदर चली जाती है और उसका उपयोग मशीनों के द्वारा करके X-ray का उपयोग चिकित्सा के संदर्भ में कर सकता है। और आज के समय में X-ray का उपयोग चिकित्सा के संदर्भ में सबसे ज्यादा किया जाता है।
  • दूसरी ओर Ultrasound बहुत ज्यादा frequency की चुंबकीय विकिरण का उपयोग करके किसी व्यक्ति के शरीर के अंदर हम लाइव देख सकते हैं हमें तस्वीरें खींचने की आवश्यकता नहीं होती है। Ultrasound की मदद से हम सीधे लाइव वीडियो देख सकते हैं। Ultrasound का उपयोग चिकित्सा के क्षेत्र में ही किया जाता है।
  • X-ray के यंत्र के निर्माण के बाद कई वर्षों पश्चात यह बात पता चली थी कि एक्स रे की किरणों का उपयोग वस्तुओं के पार देखने में भी किया जा सकता है। X-ray प्रकाश electro-magnetic radioactive विकिरण होती है जिसका अत्यधिक उपयोग मानव शरीर के लिए हानिकारक होती है। यह वातावरण के लिए भी बहुत ही ज्यादा भयंकर रूप से हानिकारक हो सकता है।
  • दूसरी ओर Ultrasound का उपयोग किसी भी हिलते हुए वस्तु के अंदर या उसके पार देखने में किया जा सकता है यह एक प्रकार से चिकित्सा के क्षेत्र में निदान का काम करती है। जो बहुत सारी बीमारियों से निदान देता है।
  • Ultrasound को सामान्य शब्दों में सोनोग्राफी भी कहा जाता है और सोनोग्राफी का उपयोग सबसे ज्यादा महिलाओं के लिए किया जाता है, जहां बच्चोंके स्वास्थ्य की जानकारी के लिए या बच्चों के लिंग के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए सोनोग्राफी का इस्तेमाल किया जाता है
  • जब Ultrasound का इस्तेमाल किया जाता है तो उस में दी हुई तस्वीरें हमें दिखाई देती है वह तस्वीरें एक तरीके से वीडियो की तरह दिखती है, जहां हमें एकलाइव तस्वीर देखने को मिलती है।

निष्कर्ष-

आज के लेख में हमने जाना कि X-ray और Ultrasound में क्या अंतर होता है, और ये भी जाना कि X-ray क्या होता है और Ultrasound क्या होता है? विज्ञान के किस क्षेत्र में काम आते हैं।

आज के लेख में हमने Ultrasound और X-ray से संबंधित लगभग सारी जानकारी प्राप्त कर ली है। हम आशा करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख पसंद आए तो कृपया इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद

FAQ-

Q. क्या Ultrasound के स्थान पर X-ray और X-ray के स्थान पर Ultrasound इस्तेमाल किया जा सकता है?

Ans. Ultrasound का उपयोग किसी भी ऑब्जेक्ट का लाइव पेनिट्रेशन वीडियो देखने में किया जा सकता है, इसमें किसी भी लाइव वस्तु के आर पार देखा जा सकता हैं। लेकिन X-ray में आपको व्यक्ति के शरीर के पार की तस्वीरें ही नजर आ सकती है आपको इसमें उनका वीडियो नजर नहीं आता, तो यह दोनों अपनी अपनी जगह इस्तेमाल आते हैं दोनों को एक दूसरे की जगह इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

Q. Ultrasound के नुकसान क्या है?

Ans. Ultrasound में पराश्रव्य ध्वनि विकिरण इस्तेमाल की जाती है। जो मानव त्वचा के लिए और मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं। यदि इनकी आवृत्ति बढ़ा दी जाए तो यह एक हद तक शरीर की चमड़ी को गलाने में सक्षम हो जाते हैं। इसके साथ Ultrasound से डिप्रेशन, ब्रेन हेमरेज, माइग्रेशन, माइग्रेन इस प्रकार के कई बीमारियां भी उत्पन्न हो सकते हैं।

Q. क्या Ultrasound से हड्डियां नजर आती है?

Ans. Ultrasound शरीर के अंदर हड्डियों के जोड़ नहीं दिखाती है।

अन्य पोस्ट पढ़े-

विश्व का पहला Plant आधारित smart Air Purifier
Magtapp application क्या है ?
भारत कॉलर आईडी ऐप क्या है
Times Higher Education Rankings 2022
डीएनए (DNA), RNA क्या होता है
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular