HomeCOMPUTERWhat is Pegasus Spyware ?|पेगासस (Pegasus software) क्या है ?|Pegasus जासूसी मामला...

What is Pegasus Spyware ?|पेगासस (Pegasus software) क्या है ?|Pegasus जासूसी मामला क्या है ?

भारत सरकार पर जासूसी का आरोप?

इस पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिए दुनिया भर में जासूसी को लेकर हंगामा हो रहा है। भारत में भी सरकार पर पत्रकार, विपक्षी नेता, मंत्री, सामाजिक कार्यकर्ता ,सरकारी अधिकारी एवं अन्य प्रभावशाली लोगों के जासूसी को लेकर आरोप है।
विपक्ष जासूसी को लेकर सरकार से सवाल तथा सड़क से लेकर संसद तक हंगामा कर रही है।

Pegasus kya hai:-

पेगासस एक spyware सॉफ्टवेयर है। इसका अर्थ उड़ने वाला घोड़ा होता है। यह एक तरह का malware है। malware ऐसे सॉफ्टवेयर को कहा जाता है जो यूजर के जानकारी के बिना उसके सिस्टम में आ जाता है तथा उसे नुकसान पहुंचाता है। इस सॉफ्टवेयर को इजराइल के सर्विलांस कंपनी NSO ने बनाया है।

जासूसी कांड का खुलासा पेरिस के Forbiden story तथा लंदन के Amnesty एजेंसी के The Gaurdian ,wasington post , Radiofrance, the wire, front lines के साथ जांच पड़ताल के द्वारा किया गया। इसमें बताया गया है कि इस सॉफ्टवेयर के जरिए 40 से अधिक देशों के 50000 लोगों की Hacking की गई है, जिसमें कई सारे राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, पूर्व राष्ट्रपति प्रधानमंत्री, पत्रकार ,राजा ,बिजनेसमेन, सरकारी अधिकारी एवं अन्य प्रभावशाली लोग हैं।

इसमें France के राष्ट्रपति, ईरान के राजा ,पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का भी नाम है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का आरोप है कि उनकी हैकिंग भारत के द्वारा करवाया गया है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है की 300 भारतीय लोगों की भी Hacking की गई है। जिसमें 40 पत्रकार ,3 विपक्ष के नेता, 2 मंत्री, सुप्रीम कोर्ट के जज एनजीओ के ओनर, बिजनेसमेन समेत सरकारी अधिकारी भी है।

NSO ग्रुप का कहना है कि वह इस सॉफ्टवेयर को सरकार एवं विश्वसनीय सरकारी एजेंसी को ही देता है । ताकि आतंकवादी घटना को रोका जा सके एवं आतंकवादियों को पकड़ा जा सके तथा अन्य बड़े अपराधिक घटनाओं को होने से रोका जा स।

यह अपने कस्टमर के नाम को बताने को लेकर कहा कि यह उसके एक्सपोर्ट के नियम के खिलाफ है।

क्या – क्या हैक कर सकता है ?

यह सॉफ्टवेयर Android के साथ-साथ iPhone को भी Hack कर सकता है। इसके लिए 7 से 8 M$/year का खर्च लगता है तथा एक बार में या 50 लोगों को ही हैक कर सकता है।

यह सॉफ्टवेयर Hacker के द्वारा यूजर के मोबाइल, कंप्यूटर आदि में mail, Unknown number से आया link को क्लिक करने पर या व्हाट्सएप पर missed call के जरिए भी आ सकता है और हैक कर सकता है। Hack हो जाने के बाद सॉफ्टवेयर उस सिस्टम के कॉल tap के साथ-साथ message, camera, microphone, fingerprint, images, videos, browsing के साथ-साथ सभी तरह के डाटा को हैकर के पास भेज देता है तथा काम खत्म होने पर यह खुद को खत्म करने की खूबी भी रखता है।

भारत में जासूसी के नियम :-

◆ भारत में जासूसी किसी सरकार या निजी संस्था या व्यक्ति के द्वारा निजता का उल्लंघन का अपराध को मानते हुए टेलीग्राफ एक्ट 26 बी के द्वारा कोर्ट अपराधी को 3 साल की सजा सुना सकता है। परंतु सरकार को कुछ अति विशेष परिस्थिति में जासूसी करने का अधिकार प्राप्त है।

◆ सरकार देश की अखंडता एवं संप्रभुता, राज्य की सुरक्षा, सार्वजनिक व्यवस्था, संज्ञेय अपराध को रोकने हेतु, लोक सुरक्षा के लिए व्यक्ति विशेष की जासूसी कर सकता है।

◆ “Indian telegraph act 1885” के द्वारा केंद्र या राज्य सरकार को विशेष situation में मैसेज को बंद करना ,उसे tap करना एवं निगरानी करने का अधिकार है।

◆ “IT Act 2000” के अनुसार सरकार को कंप्यूटर या मोबाइल के डाटा को हटाने का या उसे डिकोड करने का अधिकार है। इसके लिए केवल सरकारी एजेंसी यह काम कर सकती है वह भी गृह मंत्रालय के पूर्व इजाजत लेकर।

◆ फोन टैपिंग 60 दिनों के लिए या विशेष प्रस्थिति में 180 दिनों के लिए कर सकती ।

◆ इंडियन टेलीग्राफ एक्ट में समय-समय पर संशोधन होता है! 2007 के टेलीग्राफ संशोधन में किसी विशेष भाग में आईजी से बड़ा अधिकारी की अनुमति से फोन टैपिंग किया जा सकता है परंतु 3 दिन के अंदर उसे गृह मंत्रालय से अनुमति लेना अनिवार्य है।

◆ फोन की टेपिंग एक तरह का गंभीर अपराध है इसे निजता का उल्लंघन माना जाता है। सरकार का इस पर अभी कुछ स्पष्ट बयान नहीं आया है।

◆ इस तरह की जासूसी प्रेस की स्वतंत्रता, निजता के खिलाफ एवं सत्तावादी शासन की पहचान होती है और इस तरह इसके दुरुपयोग होने का डर रहता है।

अन्य पोस्ट पढ़े-

शनि ग्रह की महत्वपूर्ण और रोचक जानकारियां हिंदी में 
सुजलाम अभियान क्या है 
विश्व की 20 प्रमुख अंतरराष्ट्रीय सीमाएं | 20
स्वतंत्रता दिवस पर कौन सी 5 बड़ी घोषणाएं की गई
भारत का सबसे ऊंचा हर्बल पार्क कहाँ है
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular