HomeCAREERSSC CGL EXAM PATTERN : 2021 | SSC CGL क्या है संपूर्ण...

SSC CGL EXAM PATTERN : 2021 | SSC CGL क्या है संपूर्ण जानकारी हिंदी में

आज के समय में सरकारी नौकरी हर किसी छात्र का सपना होता है और यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं तो आपने SSC का नाम तो जरूर सुना होगा SSC का पूर्ण रूप Staff Selection Commission (कर्मचारी चयन आयोग) होता है भारत सरकार द्वारा कर्मचारी चयन आयोग की स्थापना 4 नवंबर , 1975 को की गई थी कर्मचारी चयन आयोग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है इसके वर्तमान अध्यक्ष “ब्रज राज शर्मा” हैं कर्मचारी सेवा चयन आयोग के क्षेत्रीय कार्यालय चेन्नई , बेंगलुरु , मुंबई , इलाहाबाद , कोलकाता और गुवाहाटी आदि में हैं।

Table of Contents

SSC के द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाएं कौन सी हैं ?

SSC निम्न परीक्षाओं का आयोजन करता है –

• SSC CGL (Combined Graduate Level Exam)
• SSC CHSL (Combined Higher Secondary Level Exam)
• SSC CPO (Central Police Organization)
• SSC GD CONSTABLE
• SSC MTS
• STENOGRAPHER Grade C & D
• SSC Junior Engineer
• Junior Hindi Translator

SSC CGL क्या है?

• SSC CGL का पूर्ण रूप (Combined Graduate Level Exam : संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा) होता है।
• SSC के द्वारा विभिन्न मंत्रालयों , संगठनों और विभागों के विभिन्न पदों पर कर्मचारियों की भर्ती के लिए संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा का आयोजन प्रत्येक वर्ष किया जाता है।
• यदि आप SSC CGL की परीक्षा में भाग लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपकी न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक जरूरी है।
• यदि आप SSC CGL की परीक्षा पास कर लेते हैं तो इसमें आपको ग्रुप – B और ग्रुप – C के विभिन्न पदों पर जॉब मिल जाती है।
• इस परीक्षा में आवेदन करने के लिए आपकी न्यूनतम उम्र 20 वर्ष होनी चाहिए।

SSC CGL EXAM PATTERN : 2021

SSC CGL Exam Pattern के चार भाग होते हैं –

• SSC CGL Tier – I
• SSC CGL Tier – II
• SSC CGL Tier – III

• SSC CGL Tier – 4

(SSC CGL Exam Pattern Tier – I)

SSC CGL Tier – I कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम होता है इसमें 100 प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि बहुविकल्पीय होते हैं प्रत्येक प्रश्न दो अंक का होता है और इस प्रकार यह पेपर 200 अंक का हो जाता है इसमें 4 विषय पूछे जाते हैं जो निम्न प्रकार हैं –

• Reasoning
• General Awareness
• Mathematics
• English

इसमें 1/2 अर्थात 0.5 की नेगेटिव मार्किंग होती है जिसका मतलब होता है कि 2 गलत प्रश्न के लिए एक सही प्रश्न के अंक को काट लिया जाएगा।

SSC CGL Tier – I FAQ

प्रश्न :- क्या SSC CGL Tier – I में नेगेटिव मार्किंग होती है?
उत्तर :- हां , SSC CGL Tier – I में 1/2 अर्थात 0.5 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रश्न :- SSC CGL Tier – I में परीक्षा की समय अवधि किया है?
उत्तर :- 60 मिनट

प्रश्न :- SSC CGL Tier – I में नेत्रहीन और दिव्यांग छात्रों को समय अवधि में कितनी छूट दी गई है?
उत्तर :- 80 मिनट

(SSC CGL Tier – II : EXAM PATTERN)

SSC CGL Tier – II में चार विषय पूछे जाते हैं जो निम्न प्रकार हैं –

• गणित
• सांख्यिकी
• सामान्य अध्धयन
• इंग्लिश लैंग्वेज & कंप्रीहेंशन

SSC CGL Tier – II में प्रत्येक पेपर 2 घंटे की समय अवधि का होता है।

• जिसमें गणित के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं और प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होता है और इस प्रकार ये पेपर 200 अंक का बनकर तैयार होता है।
• इसमें सांख्यिकी के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं और प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होता है और इस प्रकार ये पेपर 200 अंक का बनकर तैयार होता है।
• सामान्य अध्धयन के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं और प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होता है और इस प्रकार ये पेपर 200 अंक का बनकर तैयार होता है।
• इंग्लिश लैंग्वेज & कंप्रीहेंशन के 200 प्रश्न पूछे जाते हैं और प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है और इस प्रकार ये पेपर 200 अंक का बनकर तैयार होता है।

SSC CGL Tier – II से संबंधित FAQ

प्रश्न :- क्या SSC CGL Tier – II परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है?
उत्तर :- SSC CGL Tier – II में पेपर इंग्लिश लैंग्वेज & कंप्रीहेंशन को छोड़कर प्रत्येक विषय में गलत उत्तर के लिए (1/2) 0.5 की नेगेटिव मार्किंग होती है जबकि इंग्लिश लैंग्वेज & कंप्रीहेंशन में (1/4) 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रश्न :- क्या पेपर 1 और 2 सभी पदों के लिए अनिवार्य है?
उत्तर :- हां SSC CGL Tier – II में पेपर 1 और 2 सभी पदों के लिए अनिवार्य है।

प्रश्न :- SSC CGL Tier – II में पेपर 3 किन उम्मीदवारों के लिए अनिवार्य है?
उत्तर :- पेपर 3 केवल उन उम्मीदवारों के लिए होता है जिन्होंने Junior Statistical Officer (JSO) का विकल्प चुना होता है।

प्रश्न :- SSC CGL Tier – II में पेपर 4 किन उम्मीदवारों के लिए आवश्यक है?
उत्तर :- पेपर 4 केवल उन उम्मीदवारों के लिए होता है जिन्होंने सहायक लेखा परीक्षा अधिकारी/सहायक लेखा अधिकारी का विकल्प चुना होता है।

प्रश्न :- SSC CGL Tier – II में पेपर की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- SSC CGL Tier – II में प्रत्येक पेपर के लिए 2 घंटे की समय अवधि प्रदान की जाती है।

प्रश्न :- SSC CGL Tier – II में नेत्रहीन और दिव्यांग छात्रों को समय अवधि में कितनी छूट दी गई है?
उत्तर :- 2 घंटा , 40 मिनट

(SSC CGL Tier – III : EXAM PATTERN)

SSC CGL Tier – II की परीक्षा पास करने के बाद छात्र SSC CGL Tier – III की परीक्षा में शामिल होते हैं इसमें आपका लिखित एग्जाम होता है।

विषय – Pen and Paper Mode

Exam Module – Descriptive Paper In English Or Hindi (Essay/Precis/Letter/Application आदि)

• SSC CGL Tier – III की लिखित परीक्षा 100 मार्क्स की होती है।
• जिसके लिए समय अवधि 60 मिनट तय की गई है।

SSC CGL Tier – III से संबंधित महत्वपूर्ण FAQ

प्रश्न – SSC CGL Tier – III में Descriptive Paper में क्या पूछा जाता है?
उत्तर :- Essay/Precis/Application/Letter आदि)

प्रश्न :- SSC CGL Tier – III में पेपर की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- 60 मिनट

प्रश्न :- SSC CGL Tier – III में नेत्रहीन और दिव्यांग छात्रों को समय अवधि में कितनी छूट दी गई है?
उत्तर :- 80 मिनट

(SSC CGL Tier – 4 : EXAM PATTERN)

• इसे SSC CGL SKILL टेस्ट भी कहा जाता है।
• इसका आयोजन देश के कुछ सरकारी पदों के लिए किया जाता है।
• इसके बारे में यदि आप डिटेल से पढ़ना चाहते हैं तो आप SSC की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर पढ़ सकते हैं।

SSC CGL के अंतर्गत आने वाली पोस्ट –

• Assistant Audit Officer
• Assistant Accounts Officer
• Assistant Section Officer
• Sub Inspector
• Inspector Posts
• Divisional Accountant
• Inspector
• Sub Inspector
• Inspector of Income Tax
• Inspector (Central Excise)
• Inspector (Preventive Officer)
• Inspector (Examiner)
• Assistant Enforcement Officer
• Junior Statistical Officer

SSC CHSL क्या है?

• SSC CHSL का पूर्ण रूप (Combined Higher Secondary Level Exam : संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तरीय परीक्षा) है।
• SSC के द्वारा विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के विभिन्न पदों पर कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तरीय परीक्षा का आयोजन प्रत्येक वर्ष किया जाता है।
• इसके अंतर्गत LDC (Lower Division Clerk) , JSA (Junior Secretariat Assistant) और DEO (Data Entry Operator) आदि पदों पर उम्मीदवारों का चयन होता है।
• यदि आप SSC CHSL की परीक्षा में भाग लेना चाहते हैं तो आप किसी भी मान्यता प्राप्त इंटर कॉलेज से 12 वीं पास होने चाहिए।
• इसके लिए आपकी न्यूनतम उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए तभी आप इस परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं।

SSC CHSL EXAM PATTERN : 2021

SSC CHSL की परीक्षा का आयोजन 3 चरणों में कराया जाता है –

• SSC CHSL Tier – I
• SSC CHSL Tier – II
• SSC CHSL Tier – III

(SSC CHSL Exam Pattern Tier – I)

SSC CHSL Tier – I कंप्यूटर आधारित एग्जाम होता है इसमें 100 प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि बहुविकल्पीय रूप में होते हैं प्रत्येक प्रश्न दो अंक का होता है और इस प्रकार यह पेपर 200 अंक का हो जाता है इसमें 4 विषय पूछे जाते हैं जो निम्न प्रकार हैं –

• General Awareness
• Reasoning
• Mathematics
• English

इसमें 1/2 अर्थात 0.5 की नेगेटिव मार्किंग होती है जिसका मतलब होता है कि 2 गलत प्रश्न के लिए एक सही प्रश्न के अंक को काट लिया जाएगा।

SSC CHSL Tier – I से संबंधित महत्वपूर्ण FAQ

प्रश्न :- SSC CHSL Tier – I में परीक्षा की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- 60 मिनट

प्रश्न :- SSC CHSL Tier – I में नेत्रहीन और दिव्यांग छात्रों के लिए समय अवधि में क्या छूट होती है?
उत्तर :- 80 मिनट

प्रश्न :- क्या SSC CHSL Tier – I में नेगेटिव मार्किग होती है?
उत्तर :- हां , प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.5 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

(SSC CHSL Exam Pattern Tier – II)

SSC CHSL Tier – II में लिखित परीक्षा का आयोजन किया जाता है जहां पर आपसे लगभग 200 से 250 शब्दों का निबंध , 150 से 200 शब्दों का पत्र और आवेदन लेखन से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

विषय – Pen and Paper Mode

Exam Module – Descriptive Paper In English Or Hindi (Essay/Letter/Application आदि)

SSC CHSL Exam Tier – II कुल 100 अंक का पेपर होता है जिसकी समय अवधि 60 मिनट होती है।

SSC CHSL Tier – II से संबंधित महत्वपूर्ण FAQ

प्रश्न :- SSC CHSL Tier – II में परीक्षा की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- 60 मिनट

प्रश्न :- SSC CHSL Tier – II में नेत्रहीन और दिव्यांग छात्रों को समय अवधि में क्या छूट दी गई है?
उत्तर :- 80 मिनट

प्रश्न :- SSC CHSL Tier – II कुल कितने मार्क्स का एग्जाम होता है?
उत्तर :- 100 Marks

प्रश्न :- SSC CHSL Tier – II को पास करने के लिए न्यूनतम अंक कितने होने चाहिए?
उत्तर :- SSC CHSL Tier – II को पास करने के लिए इसमें आपके न्यूनतम अंक 33% होने चाहिए।

(SSC CHSL Exam Pattern Tier – III)

SSC CHSL Tier – III टाइपिंग स्किल टेस्ट होता है CHSL के सभी पदों के लिए टाइपिंग टेस्ट देना अनिवार्य है इसमें किसी को भी छूट नहीं दी जाती है।

• इंग्लिश टाइपिंग चुनने वाले उम्मीदवारों की टाइपिंग स्पीड 35 शब्द प्रति मिनट होनी चाहिए।
• जबकि हिंदी टाइपिंग टेस्ट चुनने वाले उम्मीदवारों की टाइपिंग स्पीड 30 शब्द प्रति मिनट होनी चाहिए।

SSC CPO क्या है?

SSC CPO का पूर्ण रूप (Central Police Organization : केंद्रीय पुलिस संगठन) है इस परीक्षा के लिए केवल वही छात्र आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने ग्रेजुएशन पास कर ली है SSC CPO के अंतर्गत CAPF (Central Armed Police Force : केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल) , CISF (Central Industrial Security Force) में ASI (Assistant Sub Inspector) और दिल्ली पुलिस में SI (Sub Inspector) जैसे पदों की नियुक्ति की जाती है।

• इसमें आवेदन करने के लिए न्यूनतम उम्र 20 वर्ष और अधिकतम उम्र 25 वर्ष होनी चाहिए।
• OBC वालों को अधिकतम आयु सीमा में 3 साल , SC/ST को 5 साल और दिव्यांग कैंडिडेट को 10 साल तक की छूट का प्रावधान है।
• इस परीक्षा में आवेदन करने के लिए आपका स्नातक होना जरूरी है।

(SSC CPO Exam Pattern : 2021)

इसके अंतर्गत दो पेपरों का आयोजन किया जाता है –

PAPER – 1
PAPER – 2

SSC CPO PAPER – 1

• इस परीक्षा के अंतर्गत 200 प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है।
• इस परीक्षा की समय अवधि 2 घंटे तथा ये परीक्षा बहुविकल्पीय रूप में होती है।
• इस परीक्षा में (1/4) 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है यानि कि 4 गलत उत्तर के लिए एक सही प्रश्न के अंक को काट लिया जाएगा।
• इस परीक्षा के आयोजन में 4 विषयों को सम्मलित किया जाता है जो इस प्रकार हैं –

• Reasoning
• Mathematics
• General Awareness
• English Lanuage & Comprehensive

प्रत्येक विषय से 50 प्रश्न पूछे जाते हैं और इस प्रकार यह 200 अंकों का प्रश्नपत्र बनकर तैयार हो जाता है।

SSC CPO PAPER – 2

• इसमें इंग्लिश लैंग्वेज & कंप्रीहेंशन से जुड़े 200 प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है।
• इस परीक्षा की समय अवधि 2 घंटे होती है तथा इसमें 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है यानि कि 4 गलत उत्तर के लिए एक सही प्रश्न के अंक को काट लिया जाएगा।

SSC CPO : PHYSICAL TEST

पुरुष उम्मीदवारों के लिए –

16 सेकंड में – 100 मीटर दौड़
6.5 मिनट में – 1.6 किलोमीटर दौड़
लम्बी कूद – 3 अवसरों में – 3.65 मीटर
ऊंची कूद – 3 अवसरों में – 1.2 मीटर
शॉर्ट पुट (16 LBS) – 3 अवसरों में – 4.5 मीटर

महिला उम्मीदवारों के लिए –

18 सेकंड में – 100 मीटर दौड़
4 मिनट में – 800 मीटर दौड़
लम्बी कूद – 3 अवसरों में – 2.7 मीटर
ऊंची कूद – 3 अवसरों में – 0.9 मीटर

SSC CPO से संबंधित महत्वपूर्ण FAQ

प्रश्न :- क्या SSC CPO में नेगेटिव मार्किंग होती है?
उत्तर :- हां , 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रश्न :- SSC CPO परीक्षा की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- 2 घण्टे

SSC GD क्या है?

SSC GD का पूर्ण रूप (General Duty) होता है इसके अंतर्गत CRPF , ITBP , NIA , CISF , SSF , SSB और BSF आदि पदों पर उम्मीदवारों की नियुक्ति की जाती है।

BSF FULL FORM – BSF – Border Security Force (सीमा सुरक्षा बल)

SSF FULL FORM – SSF – Special Security Force (सचिवालय सुरक्षा बल)

CISF FULL FORM – CISF – Central Industrial Security Force (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा)

NIA FULL FORM – NIA – National Investigation Agency (राष्ट्रीय अन्वेषण एजेंसी)

ITBP FULL FORM – ITBP – Indo – Tibetan Border Police (भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस)

SSB FULL FORM – SSB – Service Selection Board (सशस्त्र सीमा बल)

CRPF FULL FORM – CRPF – Central Reserve Police Force (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल)

• SSC GD की परीक्षा में आवेदन करने के लिए न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और योग्यता 12 वीं होनी चाहिए।

ध्यान दें : SSC में जूनियर इंजीनियर की भर्ती निम्नलिखित विभागों के लिए की जाती है –

• Military Engineer Services
• Farakka Barrage Project
• Border Road Organization
• Central Water Organization
• Central Water Commission
• Central Public Works Department
• Department of Post
• Directorate of Quality Assurance

(SSC GD EXAM PATTERN : 2021)

SSC GD में चयन प्रक्रिया के 4 चरण होते हैं जो इस प्रकार हैं –

• CDE – Computer Based Exam (कंप्यूटर आधारित परीक्षा)
• PET – Physical Endurance Test (शारीरिक दक्षता परीक्षा)
• PST – Physical Standard Test (शारीरिक मानक परीक्षण)
• मेडिकल

ध्यान दें : SSC GD कंप्यूटर बेस्ड 100 Marks की परीक्षा होती है इसमें 4 विषय होते हैं जो इस प्रकार हैं –

• General Awareness
• Reasoning
• Mathematics
• हिंदी / English

प्रत्येक विषय से 25 प्रश्न पूछे जाते हैं और प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित है इस प्रकार ये 100 अंकों का प्रश्न पत्र बनकर तैयार हो जाता है।

पुरुष उम्मीदवारों के लिए दौड़ –

5 किलो मीटर – 24 मिनट में

महिला उम्मीदवारों के लिए दौड़ –

1.6 किलो मीटर – 8.5 मिनट

SSC GD से संबंधित महत्वपूर्ण FAQ

प्रश्न :- SSC GD की परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन होता है या ऑफलाइन।
उत्तर :- SSC अपने सभी One Day Exam को ऑनलाइन मोड पर आयोजित करता है।

प्रश्न :- क्या SSC GD में नेगेटिव मार्किंग होती है?
उत्तर :- हां , 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रश्न :- SSC GD की परीक्षा तिथि क्या है?
उत्तर :-
16 नवंबर , 2021

SSC MTS क्या है?

• SSC MTS का पूर्ण रूप (Multi – Tasking Staff) होता है इस परीक्षा का आयोजन SSC के द्वारा कराया जाता है।
• यदि आप SSC CHSL की परीक्षा में भाग लेना चाहते हैं तो आप किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल से 10 वीं पास होने चाहिए।
• इसके लिए आपकी न्यूनतम उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए तभी आप इस परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं।

(SSC MTS EXAM PATTERN : 2021)

इस परीक्षा में दो पेपर होते हैं –

• PAPER – 1 : वहुविकल्पीय प्रश्न
• PAPER – 2 : टाइपिंग टेस्ट

SSC MTS PAPER – 1

इसमें 4 विषयों से 100 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है ये चार विषय इस प्रकार हैं –

• Reasoning
• Mathematics
• English
• General Awareness

इस परीक्षा की समय अवधि 90 मिनट होती है तथा इसमें 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

SSC MTS PAPER – 2

• इसमें आपका टाइपिंग स्किल टेस्ट होता है जो कि 50 नंबर का होता है जिसके लिए 30 मिनट दिए जाते हैं।
• नेत्रहीन और दिव्यांग कैंडिडेट को टाइपिंग टेस्ट के लिए 40 मिनट दिए जाते हैं।

SSC MTS से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न – FAQ

प्रश्न :- क्या SSC MTS के लिए टाइपिंग जरूरी है?
उत्तर :- हां , यदि आपने पहला पेपर पास कर लिया है तो टाइपिंग जरूरी है।

प्रश्न :- क्या SSC MTS में नेगेटिव मार्किंग होती है?
उत्तर :- हां , 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रश्न :- नेत्रहीन और दिव्यांग कैंडिडेट को टाइपिंग समय अवधि में क्या छूट दी गई है?
उत्तर :- 40 मिनट ( सामान्य छात्र – 30 मिनट)

प्रश्न :- नेत्रहीन और दिव्यांग कैंडिडेट को पहला पेपर करने के लिए समय अवधि में क्या छूट दी गई है?
उत्तर :- 120 मिनट ( सामान्य छात्र – 90 मिनट)

SSC STENO GRAPHER क्या है?

SSC “स्टेनोग्राफर” की परीक्षा का आयोजन प्रत्येक वर्ष कराता है यदि आप SSC STENO की परीक्षा पास कर लेते हैं तो इसमें आपको ग्रुप – C और ग्रुप – D के विभिन्न पदों पर जॉब मिल जाती है।
• इसमें आवेदन करने के लिए कैंडिडेट की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष होनी आवश्यक है।
• SSC STENO में आवेदन करने के लिए आप किसी भी मान्यता प्राप्त इंटर कालेज से 12 वीं की परीक्षा पास होने चाहिए।
• SSC स्टेनो की परीक्षा का आयोजन तीन चरणों किया जाता है –

• Objective Exam
• Short Hand
• Typing

SSC STENO PAPER MODULE –

इस प्रश्न पत्र में 200 प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है ये प्रश्न 3 विषयों से पूछे जाते हैं जो इस प्रकार हैं –

• Reasoning
• General Awareness
• English

जिसमें से रीजनिंग के 50 प्रश्न तथा General Awareness के 50 प्रश्न पूछे जाते हैं और 100 प्रश्न इंग्लिश के पूछे जाते हैं
• इसमें 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।
• इस परीक्षा को पास करने के बाद आपको शॉर्ट हैंड टेस्ट देना होता है।
• जैसे ही आप शॉर्ट हैंड की परीक्षा में शॉर्ट लिस्टेड होते हैं आपको टाइपिंग की डेट मिल जाती है

और इस प्रकार आप SSC स्टेनो की परीक्षा को पास कर सकते हैं।

SSC STENO से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न – FAQ

प्रश्न :- क्या SSC STENO के एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग होती है?
उत्तर :- हां , 0.25 की नेगेटिव मार्किंग होती है।

प्रश्न :- SSC STENO में परीक्षा की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- 2 घण्टे

प्रश्न :- क्या SSC STENO में शॉर्ट हैंड का एग्जाम देना जरूरी है?
उत्तर :- हां , यदि आप स्टेनो बनना चाहते हैं तो आपको शॉर्ट हैंड का टेस्ट जरूर देना होगा।

प्रश्न :- क्या SSC STENO में टाइपिंग करना जरूरी है?
उत्तर :- हां

हमें उम्मीद है आपको ये लेख पसंद आया होगा यदि पसंद आया हो तो इसे अपने परिवार , दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वो भी इसका लाभ उठा सकें।

हमारे इस लेख को कंप्लीट पढ़ने तथा अपना कीमती और मूल्यवान समय देने के लिए HINDIRADIO.IN की पूरी टीम आपका दिल की गहराइयों से प्रेमपूर्वक धन्यवाद करती है।

अन्य पोस्ट पढ़े-

Resume और CV में क्या अंतर है
सिम्हाद्री सोलर पावर प्लांट: विशाखापट्टनम देश का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट प्रोजेक्ट
अलीगढ़ में बनेगी राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय
2021 इंजीनियर्स डे क्यों मनाया जाता है
डीएनए (DNA), RNA क्या होता है
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular