HomeCAREERAll About D Pharma Course in Hindi| All About B Pharma Course...

All About D Pharma Course in Hindi| All About B Pharma Course in Hindi| All About Pharm D Course in Hindi

यदि आप फार्मेसी के क्षेत्र में जाना चाहते हैं और कम समय में होने वाले ऐसे कोर्स की तलाश कर रहे हैं जिससे आप फार्मेसी के क्षेत्र में करियर बना सकें तो इसके लिए आप D Pharma कोर्स कर सकते हैं क्योंकि Pharmacist बनने के लिए ये Minimum Qualification होती है।

फार्मेसी ऐसा साइंस है जिसके तहत Medicine से जुड़ी Research और Test किए जाते हैं हर बार जब किसी बिमारी के लिए इलाज खोजा जाता है तो ऐसे में फार्मेसी ही वो क्षेत्र है जो उस इलाज के लिए बनाई गई दवाई को टेस्ट करता है उन पर रिसर्च करता है ताकि उस Medicine के Effects और Side-Effects को जाना जा सके और उसे User के लिए उपलब्ध कराया जा सके।

इसके बाद B Pharma का कोर्स भी कर सकते हैं जिससे आप फार्मेसी के क्षेत्र में अपनी प्रतिष्ठा को और भी बढ़ा सकते हैं आज के इस लेख में हम विस्तार से जानेंगे कि –

Table of Contents

◆ What is D Pharma Course? (डी फार्मा कोर्स क्या है?)

● D Pharma का अर्थ – Diploma In Pharmacy होता है ये एक ऐसा फार्मेसी कोर्स होता है जिसमें छात्र Pharmaceutical Science के Basic Concept को समझ पाते हैं।

● इस कोर्स को करने के बाद Medical के क्षेत्र में ऐसी Skills Develop हो जाती हैं जो फॉर्मेसी के क्षेत्र में Carrier बनाने के लिए बहुत जरूरी होती है।
● ये डिप्लोमा कोर्स 4 सेमेस्टर में पूरा होता है जो कि 2 वर्ष की अवधि का होता है।
● D Pharma करने के बाद यदि आप B Pharma करना चाहते हैं तो आप ऐसा कर सकते हैं इसके लिए आपको B Pharma के Second Year में एडमिशन मिल जाता है।

◆ What is the Eligibility for D Pharma? (डी फार्मा के लिए पात्रता क्या है?)

● D Pharma कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट का किसी भी मान्यता प्राप्त इंटर कॉलेज से 10+2 होना चाहिए।

● जो किसी भी स्ट्रीम से हो सकता है
• SCIENCE
• MATHS
• ART
• COMMERCE

● लेकिन इसके लिए 12 वीं में कम से कम 50% अंक होने अनिवार्य हैं जो OBC तथा SC/ST कैटेगरी के लिए 45% होते हैं।

◆ How to take admission in D Pharma? (डी फार्मा में एडमिशन कैसे लें?)

● D PHARMA में एडमिशन लेने का प्रोसेस हर मेडिकल कॉलेज का अलग – अलग हो सकता है।
● क्योंकि कुछ कॉलेज में तो डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है तो वहीं बहुत से कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन कराते हैं।
● और इसी एंट्रेंस एग्जाम की परफॉर्मेंस के आधार पर आपको एडमिशन देते हैं।
● D Pharma Course में एडमिशन लेने लिए होने वाले कुछ महत्वपूर्ण एंट्रेंस एग्जाम इस प्रकार हैं –

• CPMT
• PMET
• GPAT
• UPSEE
• AU AIMEE
• JEE PHARMACT

◆ What is taught in D Pharma course? (डी फार्मा कोर्स में क्या सिखाया जाता है?)

D Pharma कोर्स के दौरान स्टूडेंट को सिखाए जाने वाले महत्पूर्ण तत्व –

● Compounding Techniques
● Inventory Control
● Third Party Billing
● Pharmacy Software Practice
● Accurate and Safe Processing of Prescriptions
● Ellective Verbal And Written Communication

◆ What are the important tasks taught to the students during the D Pharma course? (डी फार्मा कोर्स के दौरान स्टूडेंटस को कौन कौन से काम सिखाए जाते हैं?)

● Medical Technology को समझना और उसे अप्लाई करना।
● क्लाइंट इंफॉर्मेशन को फिल करना।
● ऑर्डर के लिए एक पेपर वर्क कंप्लीट करना।
● मेडिसिन डोसेस की कैलकुलेशन को समझना।

◆ Which are the important colleges and universities offering D Pharma course? (डी फार्मा कोर्स कराने वाले महत्वपूर्ण कॉलेज और यूनिवर्सिटी कौन सी हैं?)

● Jamia Hamdard University , New Delhi
● Delhi Institute of Pharmaceutical Sciences and Research , New Delhi
● K.R Mangalam University , Gurgaon
● Shri Guru Gobind Singh Tricentenary University , Gurgaon
● Dev Bhoomi Group of Institutions , Dehradun
● NIMS University , Jaipur
● Om Sai Paramedical college , Ambala
● DIT University , Dehradun

◆ What are the Subjects in D Pharma? (डी फार्मा में कौन कौन से विषय होते हैं?)

● Pharmaceutics
● Pharmaceutical Chemistry
● Pharmacognosy
● Biochemistry
● Clinical Pathology
● Human anatomy and physiology
● Health Education
● Community Pharmacy
● Pharmacology-Toxicology
● Pharmaceutical Jurisprudence
● Drug Store Business Management
● Hospital Clinical Pharmacy

◆ What are the benefits of doing a D Pharma course? (डी फार्मा कोर्स करने के क्या क्या फायदे हैं?)

● D Pharma का कोर्स करने के बाद आप फार्मेसी के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।
● इस डिग्री कोर्स को करने के बाद आप B Pharma भी कर सकते हैं जहां पर आपको डायरेक्ट Second Year में एडमिशन मिल जाता है।
● D Pharma कोर्स के दौरान आपको फार्मेसी के सारे Basic Concept पढ़ाए जाते हैं।
● जिससे आप फार्मेसी के क्षेत्र में अपनी नींव को और भी मजबूत कर सकते हैं।
● इससे आपको मिलने वाली जॉब Opportunities , करियर ऑप्शन काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं।

◆ What are the job options after doing D Pharma course? (डी फार्मा कोर्स करने के बाद कौन कौन से जॉब ऑप्शन हैं?)

● D Pharma Course करने के बाद फार्मासिस्ट के तौर पर Government Hospitals , Clinic , Private Medical Store और Private Hospital में जॉब कर सकते हैं।
● इस कोर्स को करने के बाद खुद का मेडिकल स्टोर भी खोला जा सकता है।
● इस कोर्स को करने के बाद Pharmacist Company , Process Control , Manufacturing Quality और Marketing जैसे क्षेत्र में भी Work किया जा सकता है।
● इसके अलावा Private Pharms में भी Instruction Executive , Scientific Officer के तौर पर Medical Representation , Quality Analyst , Pharmacist , Technical Super Visor की जॉब भी पाई जा सकती है।

◆ How much salary do you get after doing d pharma? (डी फार्मा करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?)

● D Pharma Course करने के बाद एक फ्रेशर के तौर पर आपको 10000 से 15000 रुपए मिल सकते हैं।
● जो कि एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ साथ बढ़ते जाएंगे।
● लेकिन इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि आपकी सैलरी इन बातों पर डिपेंड करेगी कि आप किस कंपनी या Farms के साथ जुड़ते हैं और किस पोस्ट पर काम करते हैं।
● इसके साथ साथ स्टूडेंट की Skills और परफॉर्मेंस अच्छी होनी चाहिए जो कि हर फील्ड में अनिवार्य है।
● D Pharma के साथ साथ इससे जुड़ी एक और पोस्ट के बारे में जानकारी लेना काफी जरूरी है जिसका नाम है Pharm D।

D Pharma से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न –

*FAQ

प्रश्न :- D Pharma कोर्स कौन कर सकता है?
उत्तर :- यदि आपने 12 वीं साइंस स्ट्रीम से पास की है तो आप D Pharma कर सकते हैं।

प्रश्न :- D Pharma करने के लिए 12 वीं में कितने नंबर होने अनिवार्य हैं?
उत्तर :- General : 50% , OBC/SC/ST : 45%

प्रश्न :- क्या Maths वाले स्टूडेंट D Pharma कोर्स कर सकते हैं?
उत्तर :- हां , कर सकते हैं।

प्रश्न :- D Pharma कोर्स की समय अवधि क्या होती है?
उत्तर :- 2 वर्ष।

प्रश्न :- D Pharma की परीक्षा का आयोजन कितने सेमेस्टर में कराया जाता है?
उत्तर :- 4 सेमेस्टर में।

प्रश्न :- D Pharma कोर्स करने के क्या फायदे हैं?
उत्तर :- D Pharma कोर्स करने के बाद आप खुद मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं और इसके साथ ही किसी Government या Private हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं।

प्रश्न :- D Pharma कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?
उत्तर :- एक फ्रेशर के तौर पर आपको 10 से 15 हजार रुपए मिल सकते हैं।

प्रश्न :- D Pharma कोर्स की फीस कितनी होती है?
उत्तर :- D Pharma कोर्स की फीस 1.5 लाख से 3 लाख तक हो सकती है ये आपके कॉलेज और यूनिवर्सिटी पर आधारित है।

प्रश्न :- D Pharma कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कौन कौन से एंट्रेंस एग्जाम देने पढ़ते हैं?
उत्तर :- D Pharma कोर्स में एडमिशन लेने के लिए निम्नलिखित एंट्रेंस एग्जाम देने पढ़ते हैं –

• CPMT
• PMET
• GPAT
• UPSEE
• AU AIMEE
• JEE PHARMACT

प्रश्न :- क्या D Pharma के बाद B Pharma किया जा सकता है?
उत्तर :- हां , यदि आप डी फार्मा के बाद बी फार्मा करना चाहते हैं तो ऐसे में आपको बी फार्मा द्वितीय वर्ष में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है।

◆ What is Pharm D Course? (फार्म डी कोर्स क्या है?)

● ये Pharmacy के क्षेत्र में एक Professional Degree होती है।
● जिसका अर्थ होता है Doctor of Pharmacy।
● ये कोर्स 6 साल का होता है जिसमें 5 साल की Education Learning और 1 साल की Internship होती है।
● ये डिग्री 10+2 करने के बाद की जा सकती है इसके अलावा B Pharma के स्टूडेंट के भी इसमें एडमिशन ले सकते हैं।
● जिसकी Time Duration 3 साल होती है जिसे (Post Baccalaureate) कहा जाता है।

◆ What is the Eligibility for Pharm D Course? (फार्म डी कोर्स के लिए पात्रता क्या है?)

● ये डिग्री 12 वीं पास करने के बाद की जा सकती है इसके अलावा B Pharma के स्टूडेंट भी इसमें एडमिशन ले सकते हैं।
● Pharm D कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ये जरूरी है कि स्टूडेंट 12 वीं में साइंस स्ट्रीम के तीन विषयों में से Physics और Chemistry Subject से 12 वीं क्लास को उत्तीर्ण किया होना चाहिए और तीसरा Subject मैथमेटिक्स या बायोलॉजी में से कोई एक हो।
● 6 Year Pharm D Course में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट की Age कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए।

◆ How to take admission in Pharm D Course? (फार्म डी कोर्स में एडमिशन कैसे लें?)

● फार्म डी कोर्स में एडमिशन लेने का प्रोसेस हर मेडिकल कॉलेज और यूनिवर्सिटी का अलग – अलग हो सकता है।
● क्योंकि कुछ कॉलेज में तो डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है तो वहीं बहुत से कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन कराते हैं।
● और इसी एंट्रेंस एग्जाम की परफॉर्मेंस के आधार पर आपको एडमिशन देते हैं।
● फार्म डी कोर्स में एडमिशन लेने लिए होने वाले कुछ महत्वपूर्ण एंट्रेंस एग्जाम इस प्रकार हैं –

● NIPER JEE
● NIMS Entrance Exam
● MU (OET)
● Bharat Vidyapeeth Common Entrance Exam
● Dayananda Sagar University Admission Test
● Maharashtra Common Entrance Exam
● Integral University Entrance Test
● VELS Entrance Examination

◆ Which are the important colleges and universities offering Pharm D course? ( फार्म डी कोर्स कराने वाले महत्वपूर्ण कॉलेज और यूनिवर्सिटी कौन सी हैं?)

● Parul University , Vadodara
● Poona College of Pharmacy
● Bharati Vidyapeeth University Pune
● M.S Ramaiah University of Applied Sciences (MSRUAS) , Bangalore
● Integral University (IUL) , Lucknow

◆ What are the job options after doing Pharm D course? (फार्म डी कोर्स करने के बाद कौन कौन से जॉब ऑप्शन हैं?)

● Research Scientist
● Quality insurance manager
● medical writer
● regulatory affairs manager
● pharmacist or clinal pharmacist
● pharmacy technician जैसी Job Opportunity

◆ How much salary do you get after doing Pharm D? (फार्म डी करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?)

●आप अपनी Skills और नॉलेज के आधार पर फ्रेशर के तौर पर कम से कम 20000 से 30000 रुपए कमा सकते हैं।
● ये सैलरी आपकी कंपनी और Position के साथ बढ़ती जाएगी।

Pharm D से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न –

*FAQ

प्रश्न :- Pharm D कोर्स कौन कर सकता है?
उत्तर :- यदि आपने Physics और Chemistry से 12 वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की है तो आप Pharm D कोर्स कर सकते हैं।

प्रश्न :- Pharm D कोर्स करने के लिए न्यूनतम आयु कितनी होनी चाहिए?
उत्तर :- 17 वर्ष

प्रश्न :- Pharm D कोर्स कितने वर्ष का होता है?
उत्तर :- Pharm D कोर्स 6 साल का होता है जिसमें 5 साल की Education Learning और 1 साल की Internship होती है।

प्रश्न :- क्या B Pharma करने के बाद भी Pharm D कोर्स को किया जा सकता है?
उत्तर :- हां , यदि आप B Pharma के बाद Pharm D का कोर्स करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं इसकी समय अवधि 3 वर्ष की होती है।

प्रश्न :- Pharm D कोर्स करने के बाद आप कितने रुपए कमा सकते हैं?
उत्तर :- 20 हजार से 30 हजार/महीना

◆ What is B Pharma Course? (बी फार्मा कोर्स क्या है?)

● B Pharma का अर्थ – Bachelor of Pharmacy होता है ये एक Under Graduate फार्मेसी कोर्स है इस डिग्री कोर्स की duration 4 साल की होती है जिसमें हर कॉलेज के हिसाब से इस कोर्स को 6 – 8 सेमेस्टर में Complete किया जाता है।

● Pharmacy Health Care Industory का एक बहुत बड़ा और महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जो कि न केवल मेडिसिन की Testing करता है बल्कि मेडिसिन को Devolop करने , Manufacture करने और मार्केट में Supply करने का काम करता है।

◆ What is the Eligibility for B Pharma Course? (बी फार्मा कोर्स के लिए पात्रता क्या है ?)

● B Pharma कोर्स करने के लिए 10+2 पास होना जरूरी है इसमें आपके पास PCM OR PCB में से कोई एक होना चाहिए।
● इसके अलावा जिस University या College से आप ये कोर्स करना चाहते हैं।
● ये ध्यान रखें कि 10+2 के अंक का Eligibility Criteria अलग – अलग हो सकता है।

◆ How to take admission in B Pharma? (बी फार्मा में एडमिशन कैसे लें?)

● बहुत सी यूनिवर्सिटी B Pharma में एडमिशन लेने के लिए Entrance Exam ऑर्गेनाइज करती हैं।
● उसके बाद ग्रुप Discussion , Personal Interview और Counsling भी होती है।
● B Pharma Course में एडमिशन लेने लिए होने वाले कुछ महत्वपूर्ण एंट्रेंस एग्जाम इस प्रकार हैं –

● B.H.U B Pharma Entrance Test
● MHT CET Entrance Test
● GPAT Entrance Test
● WBJEE Entrance Test
● BITSAT Entrance Test

◆ What are the Subjects in B Pharma? (बी फार्मा में कौन कौन से विषय होते हैं?)

● Biochemistry
● Human Anatomy And Physiology
● Pharmaceutical Maths Biostatistics

◆ B Pharma के Specialization क्या है?

● Pharmaceutical Chemistry
● Pharmaceutical Technology
● Clinical Chemistry
● Ayurveda
● Pharmaceutics
● Pharmacy Practice
● Pharma Cognosy
● Pharma Cology
● Pharmaceutical Analysis And Quality Assurance

◆ Which are the important colleges and universities offering B Pharma course? (बी फार्मा कोर्स कराने वाले महत्वपूर्ण कॉलेज और यूनिवर्सिटी कौन सी हैं?)

● University of Pharmaceutical Science Chandigarh
● Institute of Chemical Technology Mumbai
● Manipal College of Pharmaceutical Sciences
● The Nilgirls Tamilnadu Pharmacy College
● Jaipur National University
● Integral University Lucknow
● Indian Institute of Technology (IIT) , Vanarasi
● MET University , Noida
● Bombay College of Pharmacy , Mumbai
● Amrita school of Pharmacy , Kochi
● Shri Ramachandra Institute of higher Education and Research , Chennai
● Maharaja sayajirao University of Baroda

◆ B Pharma कोर्स करने के लिए स्टूडेंट में कौन – कौन सी Skills होनी चाहिए?

● वैसे तो हर स्टूडेंट का शार्प माइंड होना और Discipline होना जरूरी होता है।
● लेकिन B Pharma कोर्स Theory के साथ साथ Practical कोर्स भी है।
● इसमें Innovation और Research Work काफी ज्यादा होता है।
● तो ऐसे में स्टूडेंट का Medicine और Scientific Research में Interest होना बहत जरूरी है।
● साथ ही Determination और Consistancy हर Field की जरूरत होती ही है।

◆ What are the benefits of doing a B Pharma course? (बी फार्मा कोर्स करने के क्या – क्या फायदे हैं?)

● B Pharma की डिग्री लेने तथा State Pharmacy Council में Register करने के बाद अपनी Chemist Shop या Pharmacy Shop खोली जा सकती है।
● इस डिग्री कोर्स को करने के बाद आप Pharmacist यानि कि मेडिकल लाइन में अपनी शुरुआत कर सकते हैं।
● B Pharma के बाद आप चाहे तो Master Degree कोर्स भी कर सकते हैं।
● जिससे आप किसी भी एक Subject में Specialization हासिल कर सकते हैं।
● इससे आपको मिलने वाली जॉब Opportunities , करियर ऑप्शन काफी ज्यादा बढ़ जायेंगे।
● अगर स्टूडेंट Teaching के क्षेत्र में जाना चाहे तो ऐसे में B Pharma करने के बाद Lecturer बनने की राह भी आपके लिए खुली है।

◆ B Pharma करने के बाद कौन – कौन से कोर्स किए जा सकते हैं?

● Master of Pharmacy (M. Pharm)
● Course in Clinical Research
● Medical Store Management Course
● M.sc (Pharmaceutical Chemistry)
● Management Program In Pharmacy
● Post Graduate Diploma in Clinical Trial Management

◆ B Pharma के बाद आप किस – किस क्षेत्र में जॉब पा सकते हैं?

● Hospital Pharmacy
● Technical Pharmacy
● Clinical Pharmacy
● Medical Dispensing Store
● Research Agency
● Educational Institute
● Food and Drug Administration
● Sales & Marketing Department
● Health Center

◆What are the job options after doing B Pharma course? (बी फार्मा कोर्स करने के बाद कौन – कौन से जॉब ऑप्शन हैं?)

● Analitical Chemist
● Health Inspector
● drugs therapist
● Custom Officer
● Regulatory Manager
● Teacher
● Hospital Drug Cordinator
● Data Manager
● Chemical Technician
● Pharmaceutical Scientist
● Quality Control Associate

◆ How much salary do you get after doing B Pharma? (बी फार्मा करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?)

● यदि आप किसी अच्छे मेडिकल कॉलेज या यूनिवर्सिटी से बी फार्मा की डिग्री कंप्लीट कर लेते हैं।
● तो आप एक फ्रेशर के तौर पर 15 से 20 हजार रूपये कमा सकते हैं।
● ये सैलरी आपकी Skills और नॉलेज पर डिपेंड करेगी।

◆ B Pharma कोर्स से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न –

*FAQ

प्रश्न :- B Pharma का Full Form क्या है?
उत्तर :- Bachelor of Pharmacy।

प्रश्न :- B Pharma कोर्स कौन कर सकता है
उत्तर :- यदि आपने 12 वीं की परीक्षा साइंस से पास की है तो आप B Pharma कर सकते हैं।

प्रश्न :- B Pharma कोर्स कितनी समय अवधि का होता है?
उत्तर :- 4 साल

प्रश्न :- B Pharma की परीक्षा का आयोजन कितने सेमेस्टर में कराया जाता है?
उत्तर :- 6 से 8 सेमेस्टर में।

प्रश्न :- B Pharma कोर्स की फीस कितनी होती है?
उत्तर :- B Pharma की फीस सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी की अलग अलग हो सकती है लेकिन एक औसत के आधार ये फीस 1 लाख रुपए प्रतिवर्ष हो सकती है।

प्रश्न :- B Pharma कोर्स को करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?
उत्तर :- एक फ्रेशर के तौर पर आपको 10 से 15 हजार रूपए मिल सकते हैं।

◆ D Pharma और B Pharma में क्या अंतर है?

● D Pharma दो वर्षीय डिग्री कोर्स होता है जबकि B Pharma 4 वर्षीय डिग्री कोर्स होता है।
● यदि आपका बजट कम है और आप फार्मेसी के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो D Pharma आपके लिए एक बेस्ट डिग्री कोर्स होगा।
● जबकि B Pharma कोर्स की फीस और समय अवधि दोनों ही ज्यादा होती है।
● D Pharma कोर्स की परीक्षा का आयोजन 4 सेमेस्टर में कराया जाता है जबकि B Pharma परीक्षा का आयोजन 6 से 8 सेमेस्टर में कराया जा सकता है ये यूनिवर्सिटी और कॉलेज पर निर्भर करता है क्योंकि कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटी 6 सेमेस्टर में इस परीक्षा आयोजन करते हैं और 1 साल की ट्रेनिंग कराते हैं।
● D Pharma करने के बाद आप अपना मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं या फिर किसी फार्मेसी कंपनी में जॉब कर सकते हैं।
● B Pharma करने के बाद भी आप मेडिकल स्टोर और फार्मेसी क्लीनिक Open सकते हैं।
● लेकिन D फार्मा में ये फायदा होता है कि आप अपना मेडिकल स्टोर या क्लीनिक जल्दी Open कर लेते हैं।

हमें उम्मीद है आपको ये लेख पसंद आया होगा यदि पसंद आया हो तो इसे अपने परिवार , दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वो भी इसका लाभ उठा सकें।

हमारे इस लेख को कंप्लीट पढ़ने तथा अपना कीमती और मूल्यवान समय देने के लिए HINDIRADIO.IN की पूरी टीम आपका दिल की गहराइयों से प्रेमपूर्वक धन्यवाद करती है।

अन्य पोस्ट पढ़े-

Resume और CV में क्या अंतर है
KKR VS RCB ( Kolkata Knight Riders )| (Royal Challengers Bangalore)|IPL IN Hindi 2021
अलीगढ़ में बनेगी राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय
2021 इंजीनियर्स डे क्यों मनाया जाता है
डीएनए (DNA), RNA क्या होता है
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular